Pulwama Terror Attack : शहीदों के बच्चों को परीक्षा में राहत की सिफारिश

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के बच्चों को आगामी 10वीं और 12वीं बोर्ड व अन्य कक्षाओं की वार्षिक परीक्षाओं में राहत दिलाने की सिफारिश की गई है।

शहीदों के परिवारों को संबल देने के उद्देश्य से राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) समेत सभी राज्यों के शिक्षा सचिवों को इस संबंध में पत्र भेजा है।

आयोग के अध्यक्ष प्रिंयक कानूनगो के अनुसार, आयोग ने सीबीएसई समेत सभी राज्यों के शिक्षा सचिवों को शहीदों के बच्चों को 10वीं व 12वीं बोर्ड परीक्षा से राहत दिलाने के तहत बोर्ड परीक्षा के कार्यक्रम की वैकल्पिक व्यवस्था निर्धारित करने को कहा है। बोर्ड परीक्षा कार्यक्रम को सरल बनाने की सिफारिश भी की गई है।

बोर्ड परीक्षाओं के साथ ही शहीद जवानों के बच्चों को अन्य कक्षाओं की परीक्षाओं से राहत देने की सिफारिश भी एनसीपीसीआर की ओर से की गई है

RPF Constable Answer Sheet: आंसर शीट जारी, इस डायरेक्ट लिंक से करें चेक

RPF Constable Answer Sheet जारी कर दी गई है. कॉन्सटेबस परीक्षा की आंसर शीट (RPF Answer Sheet) रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (Railway Protection Force) ने ऑफिशियल वेबसाइट पर है. ग्रुए ए, बी और एफ की आंसर-शीट जारी की गई है. उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ही आंसर शीट चेक कर सकते हैं. RPF ने कॉन्सटेबल और एसआई भर्ती परीक्षा का रिजल्ट 6 फरवरी को जारी किया था. RPF ने वेबसाइट पर एक लिस्ट जारी की थी जिसमें पीईटी, पीएमटी और डिवी के लिए शॉर्टलिस्ट हुए उम्मीदवारों के नाम थे. बता दें कि कॉन्सटेबल के ग्रुप ई का रिजल्ट जारी किया गया था. जबकि आरपीएफ एसआई (RPF SI) ग्रुप ई और ग्रुप एफ का रिजल्ट (RPF SI Result) जारी हुआ था. ग्रुप ई और एफ की लिखित परीक्षा 19 दिसंबर 2018 को आयोजित हुई थी.

RPF Constable Answer Sheet ऐसे करें चेक

-उम्मीदवार आरपीएफ कॉन्सटेबल आंसर शीट चेक कर करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.

👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇

ANSWER KEY

 

 

– अब अपना रोल नंबर, जन्मतिथि, परीक्षा की तिथि और बैच डालकर सबमिट करें.
– आंसर शीट अब आपकी स्क्रीन पर आ जाएगी.
-आप आंसर शीट का प्रिंट ऑउट ले सकते हैं.

 

IGNOU December Result: जारी हुआ परीक्षा का रिजल्ट, पूरी जानकारी पढ़ें यहां 👇

नई दिल्ली: इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) ने दिसंबर में हुई परीक्षा का रिजल्ट (IGNOU Result) जारी कर दिया है. उम्मीदवारों का रिजल्ट (IGNOU Result 2018) IGNOU की ऑफिशियल वेबसाइट ignou.ac.in पर जारी किया गया है. उम्मीदवार अपना रिजल्ट (IGNOU Dec Result) इस वेबसाइट पर जाकर ही चेक कर सकते हैं. बता दें कि हाल ही में IGNOU ने बीएड की एंट्रेंस परीक्षा का रिजल्ट जारी किया था. परीक्षा दिसंबर 2018 में आयोजित की गई थी. इस परीक्षा में पास होने वाले उम्मीदवारों को BED Programme 2019 में एडमिशन मिलेगा.

उम्मीदवार नीचे दिए गए डायरेक्ट लिंक से अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.

👇👇👇👇👇👇👇👇
CLICK HERE — IGNOU Term End Result

पुलवामा आतंकी हमले के खिलाफ फूटा छात्राओं का आक्रोश, सड़क पर उतर जताया रोष

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 44 सीआरपीएफ जवानों की शहादत से देश में हर तरफ आक्रोश का माहौल है। इस क्रम में आज गुरुग्राम में सेक्टर-14 महिला कॉलेज की छात्राओं ने आक्रोश प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान छात्राओं ने वंदे मातरम और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। इस मौके पर हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि भी दी गई। 

छात्राओं ने कहा कि सेना व सीआरपीएफ जैसे सुरक्षा बल देश का गौरव हैं और इन पर सभी देशवासियों को गर्व है। उन्होंने कहा कि जवानों का अपमान और उन पर होने वाले इस तरह के कायराना हमलों को देशवासी कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

उन्होंने सरकार से मांग की है कि इन आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। साथ ही छात्राओं ने शहीद जवानों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी थी, जिसमें 44 जवान शहीद हो गए। जबकि कई अन्य गंभीर रूप से घायल हैं। जैश-ए-मौहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी भी ली है।

 

Metrological Department ने अगले 21 घंटे तक बागपत, शामली, सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव, रायबरेली, बाराबंकी, गोंडा, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, तथा इनके आसपास के जिलों में भारी बारिश की आशंका जताने वाला जारी किया आदेश, देखें आदेश👇

Metrological Department ने अगले 21 घंटे तक बागपत, शामली, सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव, रायबरेली, बाराबंकी, गोंडा, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, तथा इनके आसपास के जिलों में भारी बारिश की आशंका जताने वाला जारी किया आदेश, देखें आदेश👇

Metrological Department ने अगले 21 घंटे तक बागपत, शामली, सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव, रायबरेली, बाराबंकी, गोंडा, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, तथा इनके आसपास के जिलों में भारी बारिश की आशंका जताने वाला जारी किया आदेश, देखें आदेश👇
Metrological Department ने अगले 21 घंटे तक बागपत, शामली, सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव, रायबरेली, बाराबंकी, गोंडा, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, तथा इनके आसपास के जिलों में भारी बारिश की आशंका जताने वाला जारी किया आदेश, देखें आदेश👇

घोषणा:: नवोदय विद्यालय में शिक्षक व गैर शिक्षक की 251 सीट के लिए आवेदन की अंतिम तारीख है आज , जल्दी फॉर्म भरे।।

नवोदय विद्यालय में शिक्षक व गैर शिक्षक कि लगभग 251 सीटों के लिए आवेदन का आज अंतिम तिथि है, नोटिफिकेशन के आधार पर प्रिंसिपल असिस्टेंट कमिश्नर एवं अन्य नॉन टीचिंग स्टाफ की भी वैकेंसी है अंतिम तिथि 14 फरवरी 2019 है सभी परीक्षार्थियों से निवेदन है जल्द से जल्द वेबसाइट पर जाकर  फॉर्म को भरें एवं नोटिफिकेशन को डाउनलोड करके उसे पूरी तरह पढ़ने के बाद ही फॉर्म भरें।

फॉर्म से संबंधित सभी जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है कृपया नीचे दिए गए लिंक पर जाकर विजिट करें।।

👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇

📢 Latest JOB : यहां से भरें फार्म 👍

 

स्कूल में बच्चे के साथ कोई भी हादसा हुआ तो जेल जाएंगे प्रबंधक

आने वाले समय में यदि स्कूल में बच्चे के साथ कोई हादसा हुआ और स्कूल में सुरक्षा से जुड़ी कमियां पाई गईं तो स्कूल प्रबंधकों को जेल भी जाना पड़ सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से तैयार की जा रहे स्कूल सुरक्षा नियमों में यह प्रावधान किया जा रहा है। मंत्रालय ने स्कूल सुरक्षा नियमों को लेकर हितधारकों से राय लेना शुरू कर दिया है। मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, मार्च महीने में यह नियम जारी कर दिए जाएंगे।

वर्ष 2017 में गुरुग्राम के एक बड़े प्राइवेट स्कूल में एक छात्र की सनसनीखेज हत्या के बाद ऐसे मामलों में प्रबंधन की जवाबदेही तय करने को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 11 अप्रैल 2018 को सरकार से छह महीने के अंदर स्कूल सुरक्षा से नियम बनाने का आदेश दिया था। बाद में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नियम तैयार करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से 31 मार्च 2019 तक की अनुमति मांग ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक आला अधिकारी ने हिन्दुस्तान को बताया कि मार्च में इन नियमों को जारी करने के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने 2017 में स्कूल में बच्चों की सुरक्षा से जुड़ा एक मैनुअल जारी किया था, इसे ही आधार बना कर नए नियम तैयार किए जा रहे हैं। हालांकि, इसे और सख्त बनाने के लिए मंत्रालय ने इसमें कुछ नए प्रस्ताव जोड़े हैं। इसमें सबसे महत्वपूर्ण सुरक्षा नियमों में हीलाहवाली बरतने वाले स्कूल के प्रबंधकों को जेल भेजने की प्रस्ताव शामिल है।

इसके अलावा, एनसीपीसीआर के दिशानिर्देशों में यह भी कहा गया था कि 164 सुरक्षा पैमाने में एक का भी उल्लंघन करने पर पहली बार स्कूल के कुल राजस्व का एक फीसदी, दो दोबारा उल्लंघन करते जाए पकड़े जाने पर कुल राजस्व का तीन फीसदी और तीसरी बार उल्लंघन करते हुए पकड़े जाने पर कुल राजस्व का 5 फीसदी जुर्माना वसूलना चाहिए। इसके बाद फिर स्कूल सुरक्षा मानकों का उल्लंघन करते पकड़े जाने पर जिला अधिकारी को स्कूल का नियंत्रण अपने हाथ में लेने का भी अधिकार देने की बात कही गई है। इन प्रस्तावों पर भी मानव संसाधन विकास मंत्रालय सहमत है।

अधिकारी ने बताया कि स्कूल सुरक्षा नियमों के प्रस्तावों पर हितधारकों की बैठक 14 फरवरी और 19 फरवरी को बुलाई गई है। इसमें राज्य सरकारों के अधिकारी, एनसीपीसीआर के प्रतिनिधि, कुछ स्कूलों के प्रिंसिपल और गैर-सरकारी संगठनों के लोग शामिल हैं। इनसे चर्चा के बाद सुरक्षा नियमों को अंतिम रूप दे दिया जाएगा और मार्च महीने में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई मियाद खत्म होने से पहले इसे जारी कर दिया जाएगा।

सवर्ण आरक्षण में उम्र को नहीं मिली छूट, युवाओं ने पीएम को पत्र लिखकर की शिकायत

सवर्ण आरक्षण में उम्र को नहीं मिली छूट, युवाओं ने पीएम को पत्र लिखकर की शिकायत

सवर्ण आरक्षण में उम्र को नहीं मिली छूट, युवाओं ने पीएम को पत्र लिखकर की शिकायत
सवर्ण आरक्षण में उम्र को नहीं मिली छूट, युवाओं ने पीएम को पत्र लिखकर की शिकायत

राज्यों को भेजी 22 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची, यूपी दिल्ली समेत अन्य राज्यों के विश्वविद्यालय के नाम

राज्यों को भेजी 22 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची, यूपी दिल्ली समेत अन्य राज्यों के विश्वविद्यालय के नाम

राज्यों को भेजी 22 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची, यूपी दिल्ली समेत अन्य राज्यों के विश्वविद्यालय के नाम
राज्यों को भेजी 22 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची, यूपी दिल्ली समेत अन्य राज्यों के विश्वविद्यालय के नाम

प्रमोशन में आरक्षण के विरोधी समर्थक उतरे मैदान में, समर्थक बोले संविधान संशोधन विधेयक पारित कराएं, विरोधी बोले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की गलत व्याख्या ना करें

प्रमोशन में आरक्षण के विरोधी समर्थक उतरे मैदान में, समर्थक बोले संविधान संशोधन विधेयक पारित कराएं, विरोधी बोले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की गलत व्याख्या ना करें

प्रमोशन में आरक्षण के विरोधी समर्थक उतरे मैदान में, समर्थक बोले संविधान संशोधन विधेयक पारित कराएं, विरोधी बोले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की गलत व्याख्या ना करें
प्रमोशन में आरक्षण के विरोधी समर्थक उतरे मैदान में, समर्थक बोले संविधान संशोधन विधेयक पारित कराएं, विरोधी बोले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की गलत व्याख्या ना करें