जनपद बांदा में 349 नवनियुक्त शिक्षकों के वेतन भुगतान का आदेश हुआ जारी

जनपद बांदा में 349 नवनियुक्त शिक्षकों के वेतन भुगतान विवरण डाऊनलोड करने के लिए क्लिक करें👈

बाँदा : परिषदीय स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों के 1600 बच्चे मिले बीमार, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के सर्वे में सामने आए भयावह आंकड़े

मॉडल कॉलेज में डीएम को मिलीं खामियां

बांदा : डीएम हीरालाल ने गुरुवार को पचनेही (बड़ोखर खुर्द) स्थित राजकीय माडल इंटर कॉलेज का औचक निरीक्षण किया। यहां उन्हें गंदगी सहित कई खामियां मिलीं। शैक्षिक गुण?वत्ता न्यून होने पर उन्होंने प्रबंधक को कड़ी फटकार लगाई और कार्रवाई की चेतावनी दी।

डीएम ने कॉलेज के निरीक्षण में नवनिर्मित विद्यालय की खिड़कियां व शीशे टूटे होने पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। विद्यालय परिसर में बेहद गंदगी व धूल जमा मिली। छत पर देखा तो पेड़ पौधे उगे थे। पानी जमा था। डीएम ने प्रबंधक से कहा कि प्रधान, सचिव, लेखपाल इस पर तत्काल अभियान चलाएं। लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।विद्यालय के खेल मैदान में सफाई कराने को सप्ताह भर का समय दिया। कहा कि यहां फलदार व फूलदार पौधे लगाए जाएं। क्लासवार बच्चों से उन्होंने सवाल भी किए। लेकिन बच्चे मुंह ताकते रह गए। इस पर डीएम ने कहा कि शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार नहीं हुआ तो अगले माह कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

———–

हस्ताक्षर न मिलने पर खफा

बांदा : डीएम हीरालाल ने बड़ोखर ब्लाक के झील का पुरवा स्थित पूर्व व प्राथमिक विद्यालय में वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने बीएसए से कहा कि परिषदीय विद्यालयों में वह क्षमता है जो अन्य में नहीं। बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा दी जाए। कक्षावार उपस्थिति रजिस्टर में बच्चों के हस्ताक्षर करवाए जाएं। बीएसए हरिश्चंद्रनाथ ने सभी का आभार जताया। इस मौके पर बीइओ जगत ¨सह राजपूत, कमल ¨सह, अंजू दमेले, विधु त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।

FATEHPUR : विज्ञान प्रदर्शनी में 5 जनपदों में शिवा के मॉडल को पहला स्थान

पढ़ेगा तभी तो बढ़ेगा इंडिया….

चित्रकूट : अब जिले के परिषदीय स्कूलों के भवन जल्द बेहतर होंगे। डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूरल और अरबन मिशन योजना के तहत पहले चरण में मऊ व कसहाई क्लस्टर के 85 विद्यालयों को दुरुस्त किया जाएगा। जनवरी 2019 से इनमें काम शुरू होगा। संबंधित ग्राम पंचायतों के खातों मे एक करोड़ रुपये की धनराशि भेजी जा चुकी है। अलग-अलग स्कूलों में एक से लेकर पांच लाख रुपये जरूरत के हिसाब से खर्च होंगे। इससे शैक्षिक व्यवस्था भी बेहतर होगी।

यह विद्यालय किए गए चयनित

कसहाई क्लस्टर

प्राथमिक विद्यालय : खोह प्रथम, खोह द्वितीय, कोलगदहिया, कछारपुरवा, मरजादपुरवा, गदहिया, धोबिनपुरवा, कालूपुर, कुम्हारनपुरवा, कसहाई प्रथम व द्वितीय, नई दुनिया, कुंजनपुरवा।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय : खोह, कोलगदहिया, कालूपुर, नई दुनिया, कुंजनपुरवा, कसहाई प्रथम और द्वितीय।

मऊ क्लस्टर

प्राथमिक विद्यालय : बंबुरी, बरुआ, बरवार, मंडौर प्रथम व द्वितीय, बंबुरा, हरिजन बस्ती, मऊ, मऊ द्वितीय व तृतीय, मैदाना, बौसड़ा, छिपिहा, गेरुहा, डाक बंगला, मवई कला प्रथम व द्वितीय, बरमबाबा का पुरवा, मिक्खी का डेरा, मनकुआंर, दौलतपुर, भिटारी, नौबस्ता, छिवलहा प्रथम व द्वितीय, चंदई, झगरई, तिलौली, हटवा, दुबारी, सखौंहा, सुरौंधा, सुरजी का पुरवा, शेषा, शेषा का पुरवा, कटिया-पटौरी, कालूराम का पुरवा, जग्गी का डेरा, ताड़ी प्रथम व द्वितीय, चकलैय्या, अहिरी, छिवली, बालापुर।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय : ताड़ी, अहिरी, चकलैय्या, कालूराम का पुरवा, शेषा, सुरौंधा, सखौंहा, हटवा, छिपिहा, मवईकला, मनकुंआर, भिटारी, छिवलहा, कन्या छिवलहा, चंदई, बंबुरी, बरवार, कन्या मंडौर, कन्या मऊ, मैदाना।

यह होंगे काम-बाउंड्रीवाल व फर्श मरम्मत, टाइल्स लगाना।

-विद्यालय परिसर में इंटरला¨कग, शौचालय निर्माण।

26 स्कूलों में स्मार्ट क्लास

– मऊ में 19 और कसहाई क्लस्टर के सात।

– प्रोजेक्टर व इंटरेक्टिव बोर्ड से विषय ज्ञान।

– सॉफ्टवेयर युक्त बोर्ड में सुरक्षित रहेगा डाटा।

– विज्ञान, गणित, पर्यावरण व ज्ञानवर्धक लघु फिल्में।

धनराशि ग्राम पंचायतों को भेजी जा चुकी है। जल्द निर्माण और मरम्मत के कार्य शुरू होंगे। भवन बेहतर करने के साथ शैक्षणिक वातावरण में बदलाव लाने की कोशिश की जाएगी।

प्रकाश सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, चित्रकूट

बाँदा : समीक्षा बैठक में डीएम ने समस्त बीईओ को दिए निर्देश

बाँदा : समीक्षा बैठक में डीएम ने समस्त बीईओ को दिए निर्देश

चित्रकूट: जनपद में ठंड के मद्देनजर परिषदीय विद्यालयों का बदला स्कूल संचालन का समय

चित्रकूट: जनपद में ठंड के मद्देनजर परिषदीय विद्यालयों का बदला स्कूल संचालन का समय