सामान्य भविष्य निर्वाह निधि (GPF) के स्थानांतरण कार्यवाही के सम्बन्ध में शिक्षा निदेशक (बेसिक) का आदेश

दिनाँक 03 एवं 04 जनवरी 2019 को नई दिल्ली में आयोजित “नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन इनोवेशन इन एजूकेशनल एडमिनिस्ट्रेशन एंड अवार्ड प्रेजेंटेशन फंक्शन” हेतु जिला एवं खण्ड शिक्षा अधिकारियों को प्रतिभाग करने के सम्बन्ध में आदेश

गोरखपुर : शिक्षामित्रों, अंशकालिक अनुदेशकों, बीआरसी लेखाकार एवं कंप्यूटर ऑपरेटर आदि के उपस्थिति प्रमाण पत्र ससमय उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में आदेश

NPS vs OPS : कल 1 जनवरी 2019 को देश भर का कर्मचारी नया साल नहीं मनाएगा, गांव में काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराएगा तथा 28 जनवरी से एक नया महाअभियान दिल्ली से शुरू किया जाएगा। “हमारी भी सुनो श्रीमान पेंशन है हमारा स्वाभिमान”

basicshikshak.com पुरानी पेंशन की लड़ाई में NATIONAL MOVEMENT FOR OLD PENSION SCHEME का भरपूर समर्थन करता है। जानें क्यों ???

 

 

सम्‍मानित साथियों हमारे बहुत से साथी नयी पेंशन योजना व पुरानी पेंशन योजना में अन्तर नहीं जानते आज मैं आप को इसका अन्तर स्पष्ट करने की कोशिश करूगाँ –तोआइए देखते हैं दोनो में अन्तर –

1-पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 सुविधा उपलब्ध है जबकि नयी पेंशन योजना में जी0 पी 0एफ0 नहीं है ।

2-पुरानी पेंशन के लिए वेतन से  होती है जब चाहो जितनी जमा करेा जब चाहो जितनी निकालो  जबकि नयी पेंशन योजना में वेतन से प्रति माह 10%की कटौती निर्धारित है और निकालने का कुछ पता नहीं ा

3-पुरानी पेंशन योजना में रिटायरमेन्ट के समय एक निश्चित पेंशन( अन्तिम वेतन का 50%) की गारेण्टी है जबकि नयी पेंशन योजना में पेंशन कितनी मिलेगी यह निश्चित नहीं है यह पूरी तरह शेयर मार्केट व बीमा कम्पनी पर निर्भर है ।

4-पुरानी पेंशन सरकार देती है जबकि नयी पेंशन बीमा कम्पनी देगी । यदि कोई समस्या आती है तो हमे सरकार से नहीं बल्कि बीमा कम्पनी से लडना पडेगा ।

5-पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटी( अन्तिम वेतन के अनुसार 16.5माह का वेतन) मिलता है जबकि नयी पेंशन वालों के लिये ग्रेच्युटी की कोई व्यवस्था नहीं है ।

6-पुरानी पेंशन वालों को सेवाकाल में मृत्यु पर डेथ ग्रेच्युटी मिलती है जो 7पे कमीशन ने 10लाख से बढाकर 20लाख कर दिया है जबकि नयी पेंशन वालों के लिए डेथ ग्रेच्युटी की सुविधा समाप्त कर दी गयी है ।

7-पुरानी पेंशन में आने वाले लोंगों को सेवाकाल में मृत्यु होने पर उनके परिवार को पारिवारिक पेंशन मिलती है जबकि नयी पेंशन योजना में पारिवारिक पेंशन को समाप्त कर दिया गया है ।

8-पुरानी पेंशन पाने वालों को हर छ: माह बाद महँगाई तथा वेतन आयोगों का लाभ भी मिलता है जबकि नयीपेंशन में फिक्स पेंशन मिलेगी महँगाई या वेतन आयोग का लाभ नहीं मिलेगा यह हमारे समझ से सबसे बडी हानि है ।

9-पुरानी पेंशन योजना वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 से आसानी से लोन लेने की सुविधा है जबकि नयी पेंशन योजना में लोन की कोई सुविधा नही है( विशेष परिस्थिति में कठिन प्रक्रिया है केवल तीन बार वह भी रिफण्डेबल) ।

10-पुरानी पेंशन योजना में जी0 पी0 एफ0 निकासी( रिटायरमेंट के समय) पर कोई आयकर नहीं देना पडता है जबकि नयी पेंशन योजना में जब रिटायरमेंट पर जो जो अंशदान का 60%वापस मिलेगा उसपर आयकर लगेगा

11-जी 0पी0एफ0पर ब्याज दर निश्चित है जबकि एन0 पी0 एस0 पूरी तरह शेयर पर आधारित है।

इतना जानने समझने के बाद आप स्वयं विचार करके बतायें कि

 

क्या आप बुढापे की लाठी चाहते हैं ?

क्या आप अपने परिवार की चिंता करते हैं ?

क्या आप अपने Retirement के बाद अपने समाज परिवार के लिए कुछ करना चाहते हैं ?

क्या आप अपने जीवन के अंतिम समय तक स्वावलंबी जीवन जीना चाहते हैं ?

अगर आप इनमें से कुछ भी चाहते हैं तो पुरानी पेंशन की इस लड़ाई में शामिल होइए तथा अपने सुझाव हमारे twitter account पे या फेसबुक पेज पर comment box पे email id – upbasicedu@basicshikshak.com पर जरूर दीजियेगा।

Twitter – basicshikshak.Com (@BasicshikshakC): https://twitter.com/BasicshikshakC?s=08

Facebook –
https://www.facebook.com/basicshikshaknews/

Fatehpur : स्कूलों की जांच की जा सकती है छात्र प्रोफाइल शैक्षिक संप्राप्ति एवं अधिगम स्तर में वृद्धि का बिंदु शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक