एबीपी न्यूज़ ने शिक्षकों को बताया चोर , शिक्षक हुए लामबंद.. कहा किसने दिया चोर कहने का अधिकार, आप भी दर्ज कराएं अपना विरोध

कल शाम अपने एक लाइव शो में एक नामी न्यूज़ चैनल एबीपी न्यूज़ ने अध्यापकों के खिलाफ 9000 करोड़ चोरी करने का आरोप लगाया जोकि शिक्षकों को कबूल नहीं शिक्षक लामबंद होकर सरकार से कहना चाहते हैं कि एक प्राइवेट न्यूज़ चैनल को जो महज अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए शिक्षक पर चोरी का आरोप आरोपित करते हैं क्यों इस तरह के चैनल पर बैन नहीं लगाया जाता क्या वाकई में देश की नींव तैयार करने वाला चोर है निश्चित तौर पर यह सुनकर सभी नागरिकों और अध्यापकों को बहुत ही गुस्सा आया आप भी सोशल मीडिया के माध्यम से ऐसी चाटुकारिता कर रहे पत्रकारिता का विरोध करें

56 Replies to “एबीपी न्यूज़ ने शिक्षकों को बताया चोर , शिक्षक हुए लामबंद.. कहा किसने दिया चोर कहने का अधिकार, आप भी दर्ज कराएं अपना विरोध”

  1. Do you know the fact that in most of the schools there is single teacher who manages to bring milk, fresh fruits, books, shoes-socks, purchases uniform & distributes to the students, manages bank accounts of the school, requests the sweeper to visit the school at least twice in a week, goes to the parents to urge that they should send their wards to school, faces the politics of village people,pradhan n all. Why government is not providing head teachers to the schools? You must not be knowing but the answer is- we Astt. Teachers are forced to work for Head Teachers without even providing with the grade pay of Head Teachers.
    I know media has freedom to speak but the statement should not be biased. So Mr. Whoever has told you these wrong & diplomatic facts tell them that basic education department needs teachers not tablets.last two vacancies have been hanged in the balance. If they had completed the process, the department would have got teachers & it could have lessened the unemployment of qualified beings who have passed Teacher Eligibility Test also. HOPE YOU WILL NOT STAB ANY DEPARTMENT IN FUTURE IF YOU ARE ASHAMED A LITTLE ON YOUR ACT…..

      1. Teacher ko chor batane vale logo ne kabhi apne girevan me ghank kar dekha hai sarkar ki chatu karita karne valo apna jamir bachkar kha gya bhart des ki parampara bhi jo ki guroo shisya ki hoti hai vah bhi bhool gay hath me maik mil gayi to jo man me aa gya bol diya

        1. अध्यापकों की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाले TV चैनल पर बैन लगना चाहिए।

    1. *#BlockABPNews*

      कल के घण्टी बजाओ कार्यक्रम में ABP समाचार चैनल ने प्रेरणा एप के संदर्भ में अपने विचार रखें । जिसमे अनुराग मुस्कान ने शिक्षकों को लेकर तरह तरह की अशोभनीय टिप्पणी की , बहुत कुछ ऐसा कहा जो शिक्षको की गरिमा को ठेस पहुचाता है । समस्त शिक्षको को एक लाठी से हांकना गलत दृष्टिकोण को इंगित करता है । जिस तरह आपने शिक्षको को चोर उच्चका न जाने क्या क्या कहा ….मैं भी आपकी पत्रकारिता को दलाली से लबरेज़ , चाटूकारिता , सत्ता के गुलाम , बिकाऊ , गोदी मीडिया , लफंडर , धूर्त , टी आर पी की हवस आदि विशेषण से सुशोभित कर सकता हूँ परन्तु नही करूँगा क्योकि मैं आपकी वस्तु स्थिति से अवगत नही हूँ । मैं नही जानता कि आप पर क्या दवाब है ….मैं यह भी नही जानता कि आपके चैनल के मालिक मोटी रकम वसूलकर आपसे किस स्तर पर मुजरा करने को कहते हैं माफी चाहेगे गलत बोल गए मुजरा नही सॉरी पत्रकारिता …..

      सच कहूं तो पत्रकारिता आप कोसो दूर भूल आये है …. मैं वैसे कभी ABP , ZEE NEWS , INDIA TV आदि चैनल नही देखता क्योकि इसमे खबर कम सत्ता की चाटूकारिता बड़े पैमाने पर देखता हूँ । परन्तु जब लोगो ने कहा कि देखिएगा और अपने विचार दीजियेगा तो आपकी खबर को आज सुबह आपके लिंक पर देख पाया ….. किस परिवर्तन की बात करते है आप कभी आपने यह देखने का प्रयास किया कि विद्यालय की शिक्षिका कैसे उन गन्दे टॉयलेट का प्रयोग कर पाती होगी ….. कभी आपने यह जानने का प्रयास किया है कि कैसे एक मास्टर 5 कक्षाएं पढ़ाता है , कभी यह जानने की कोशिश की है कि अध्यापक को कृमि दिवस की गोलियां भी बटवानी है और पोलियो की खुराक भी ….. और कभी टीके भी लगवाने है …… जो आप चिल्ला चिल्ला कर कह रहे थे कि सिलेंडर भराने चले जाते हैं तो बता दे अनुराग मुस्कान जी अगर भराने न जाये तो विभाग अगले दिन भेज देता है लम्बा चौड़ा खर्रा कि आप निलंबित हो गए …..क्योकि आप 2 दिन से खाना न बनवाये…… दूध न मिले तो मास्टर निलंबित …..फल न बटे तो मास्टर निलंबित ….. अब तो नवेले मंत्री कह रहे 3 दिन लेट तो बर्खास्त …..

      *तुम्हारी जो नकारात्मक पत्रकारिता है न वही शिक्षा व्यवस्था सुधरने नही दे रही…. जो तुम बात बात में मुह पर माइक अड़ा देते हो न शिक्षकों के उसी को मूर्खता कहते हैं…… शिक्षकों को 2 कौड़ी के नेता न समझो जिनको अपनी TRP में घसीट रहे हो ….. व्यवस्था की मूल जड़ में जाओ समझे साहब ….. और अगर वही देखना है जो बाबा कहेंगे तो देखो फिर ….. अरे हम तो भूल ही गए थे आप वही चैनल वाले है जो अभिसार शर्मा की निर्भीक पत्रकारिता न सह पाए ….आप तो वही चोर है जो देश की जनता का विश्वास बेच कर ….. उन खबरों को न दिखा पाए जिसको पुण्य प्रसून वाजपेयी जी मास्टर स्ट्रोक में दिखा रहे थे ….. आप जिस टैक्स की बात करते हैं न साहब उससे असली खेल तो आप किये है साहब !*

      ” मंत्री जी का कहना कि फेसबुक सोशल मीडिया पर 10 फ़ोटो रोज डाले जाते तो निजता का हनन नही होता तो साहब जानकारी के लिए बता दूं अभी चार दिन पहले ही 46 करोड़ यूज़र्स का फेसबुक डाटा गोपनीय जानकारी सहित लीक हुआ है क्या इसकी अनुमति आपको भी दे दे ….. हम अपने व्यक्तिगत जीवन मे क्या करते हैं क्या नही उसकी जवाबदेही न हमारी आपके प्रति बनती है न ही हम चाहेंगे कोई उसमे हस्तक्षेप करें…… और बता दे 15 दिन पहले आजमगढ़ का एक मामला पढ़ लेना फ़ोटो को मार्फ करके एक महिला का फोटो वायरल कर दिया गया जिसको फेसबुक पर डाल दिया गया ….. हो सकता है कल आपका भी हो जाये , हमारा हो जाये….. पर हां आप तो मंत्री है आपको फर्क नही पड़ेगा ….बड़े आदमी है साहब पर हमको पड़ेगा क्योकि हम सामान्य है …..समाज बिना सत्यता जाने हमको बहिष्कृत कर देगा …..! आप महान है साहब….”

      अनुराग मुस्कान को ईश्वर सद्बुद्धि दे…..

      सत्यमेव जयते !!

      साभार

    2. Mujhe sirf itna batayein ki kabhi kisi teacher ke ghar par income tax ki reid padi hai kya?Aaj tak ke itihas me koi incident ho to ABP bataye.Jo channel teacher ko chor bata rahe hain wo apne gireban me jhank kar dekhein

  2. 9000 करोड़ कौन चुरा
    रहा है जरा यह भी तो बताएं
    इस न्यूज़ का स्रोत क्या है

  3. chor to ye bikau patrakaar aur media hai jo apne swarth ke liye aur paiso ke lalach me sarkaar ki chamchagiri me lagi hai desh ko jhuth dikhakar brhamit karte hai ye saale jhuthe new channels ……..sarkaar to lagi hai sabkuch adani aur ambaani ko bechne me

    1. PUSHKAR MISHRA (@_I_am_pushkar) Tweeted:
      @ABPNews @AnuragMuskan_ टीचर्स चोर नहीं है जैसे एक पत्रकार के रेप करने से सारे पत्रकार रेपिस्ट नहीं हो जाते, जैसे एक नेता या अधिकारी के भ्रष्टाचार करने से सारे नेता और अधिकारी भ्रष्टाचारी नहीं हो जाते, वैसे ही कुछ टीचर्स के ना आने से सारे टीचर्स 9000 करोड़ के चोर नहीं हो जाते। https://t.co/sE7hJzKW5t https://twitter.com/_I_am_pushkar/status/1171471961974689792?s=17

  4. आप जैसा बिकाऊ मीडिया हमे चोर घोषित कर रहा है ।
    कभी सरकारी तलवे चाटने से फुर्सत मिले तो देखना बेसिक का टीचर कितनी विषम परिस्थिति में काम करता है

    1. शिक्षकों को चोर बताने वाले मीडिया को हम जनता के साथ झूठ बोलने और गुमराह करने का दोषी मानते हुए इसको visual साथियो से न देखने और सब्सक्राइब न करने का अनुरोध करते है।आज का बिकाऊ मीडिया स्वयं को देश को आगे बढ़ाने वाला कहता है।जब आप सही को सही नहीं कह सकते तो आपको स्वयं की विश्वसनीयता पर एक बार फिर विचार करना चाहिए।

    2. आज मीडिया का जो चेहरा नजर आ रहा है … वो दिन दूर नहीं जब देश एक बार फिर गुलाम होगा… वो भी इन जैसी नीच मीडिया के कारण…. आपने शिक्षकों को चोर बताया है अगर पिछले 5 सालों में जो पत्रकारों की संपत्ति में अचानक से उछाल आया उसकी जांच सही प्रकार कर दी जाए तो देश के 80% पत्रकार जेल में होंगे…. कितना नीचा किरोगे कम से कम अपने आगे आने वाली पीढ़ी का तो सोचा होता इस गंदी कमाई से उनका क्या भविष्य होगा ….. थू ऐसी मीडिया पर

  5. आज तक कितने शिक्षको के घर cbi के छापे पड़े है
    जरा धरातल पर आकर देखो की कितनी विपरीत परिस्थिरियो में शिक्षक कार्य करते है जहाँ मूलभूत सुविधाएं भी नहीं है न फर्नीचर है न टॉयलेट है और यहाँ तक कि ब्लैकबोर्ड भी नही होता
    जबरन मिड डे मील खिलाओ 4 रुपये में फल दो 2,200 रूपये में गुडवत्ता पूर्ण ड्रेस दो जितने की सैयद आप की अंडरवियर नही आती होगी…….ऊपर से आप लोगो द्वारा समाज मे शिक्षक की छवि नकारा घोसित कर देना
    देश के सुदूर गावो में जहां जाने का कोई साधन नही , न ही कोई T A मिलता है
    सायद आपको वहाँ रिपोर्टिंग के लिये जाना हो तो आप लाखों का TA क्लेम करेंगे
    अरे आप लोग अपनी trp के लिये किसी के जीवन से मत खिलवाड़ करें
    कुछ तो शर्म करें
    थू थू ऐसी trp पे

  6. शिक्षक ने क्या चुराया है
    क्या कभी किसी शिक्षक के पास अपार संम्पति मिली है
    जिन अधिकारी या बाबूयो की वेतन शिक्षक स भी कम या बराबर होती है वो कैसे करोडो के मालिक बन जाते कभी सोचा तो चोर को है

    आप जैसे मीडिया कर्मी कभी इस बात को नजदीक से जानना ही नही चाहते
    कभी इस बारे में सोचा की बड़े बड़े स्कूल में इतनी अधिक फीस लेने के बाद भी बच्चे को कोचिंग जाना पड़ता है

    हमे प्रेणना से विरोध इस लिए भी है कि शिक्षक ग्रामीण क्षेत्र में प्रितिदिन जाता है जंहा न सड़क सही होती न ही कोई नेटवर्क सही रहता और न ही कोई यातायात की सुभिधा होती है

    कई महिला शिक्षक कैसे छोटे बच्चों को लेकर पैदल 1 य 2 किलोमीटर पैदल चल कर जाती है

  7. Kbhi neta k khilaf itna bolne k himmat nh rkh pate.ye apne desh ka durbhagya h k hmare yha shashan ka bolbala h na k prashashan ka.media to bikau ho gyi h.trp bdhane k liye 24 ghnte channel chalane to dkhaye kya

      1. Soch samajh kar abp news comment kary. .aap up k schools ki jaanch kary. Tab pata chalega sacchai ka.. Shame on u abp

  8. गोदी और बिकाऊ मीडिया की जो सच्चाई दिखाने से डरता है शर्म आनी चाहिये ABP न्यूज़ व अनुराग मुस्कान को । आपकी औकात कैसे हो गयी शिक्षक को रुपयों की चोरी लगाने की-9617 करोड़ की चोरी।।शर्मनाक।।ईमान बेंचकर पत्रकारिता करते हो।।
    शिक्षकों के बारे में दुष्प्रचार करने के लिए कभी माफ नहीं करेगा पूरे राष्ट्र के शिक्षक।
    आज से आपके न्यूज़ चैनल का पूर्ण बहिस्कार का ऐलान करता हूँ।
    4200 ग्रड़पे के शिक्षक पर कोई भी या कभी भी ऐसा वाकिया आया है आज तक कि किसी शिक्षक के घर पर इनकम टैक्स या ED का छापा पड़ा हो???

    अरे उनको देखो जो महजब 2800 के ग्रड़पे पे करोड़ो का गबन करते है जिनके घर इनकम टैक्स और ED के छापे पड़ते है और करोड़ो बरामद होते है ।

    शिक्षक अपनी मेहनत का खाता है राष्ट्र निर्माण में भूमिका अदा करके।।
    आज आपने झूठ व मर्यादा की पराकाष्ठा को पार कर दिया।

    निंदनीय।।।शर्मनाक।।।माफी के लायक नहीं।।

    आज से हम सभी सरकारी व प्राइवेट सभी शिक्षक अपने घर के डिश से एबीपी न्यूज़ चैनल को unsubscribe व utube, fb, ट्विटर आदि से बहिष्कार का ऐलान करते हैं

  9. Pahle apne gireban me jhanke, ki ham kitne sahi hai, fir doosre ko chor bole. Khud to karodon rs lekar galat ko sahi aur sahi ko galat tarike se pesh karte ho, aur shikshak ko bolte ho 9000 karod chori kite.

  10. इनके द्वारा बोले गए शब्दो पर इन्हें माफी मांगनी चाहिये। ये समाज के एक ऐसे वर्ग का अपमान कर रहे है ,जो समाज का निर्माता है।

  11. आप तो दलाली कर ही रहे हो ABP News. आप के किन लक्ष्यों के आधार पर ये बात कही है स्पष्टीकरण दो

  12. बेहद निंदनीय और अशोभनीय टिप्पणी…
    यह क्यों भूल रहे हो कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता होता है

  13. Sadak log dalali khate hai. दल्लो बिकी हुई मीडिया । दूसरो को ऐसे न बोले। पहले खुद की गरेवां में झांको। कितने गरीबों का खा रहे हो। दल्लो।

  14. ✍✍✍✍✍✍✍✍
    _*प्रेरणा एप का जन्म ही केवल शिक्षकों को चोर साबित करने के लिए हुआ है,*_

    *दूर दराज गांव में प्रत्येक मौसम और परिस्थिति में सुबह समय से पहुंचकर पढ़ाने व अन्य सभी आवश्यक कार्य करने वाले हम चोर हैं ?*

    *महीनों जेब से सभी उपस्थित बच्चों उनकी माताओं, रसोइयों आदि को खाना, फल, दूध आदि खिला – पिलाकर 52% कनवर्जन कॉस्ट में संतोष करने वाले हम चोर हैं ?*

    *बीआरसी / एनपीआरसी आदि जगहों से किताबें, जूते – मौजे, बैग, आदि सामान अपने वाहन / किराए से जाने वाले हम आपको चोर नजर आते हैं,*

    *पूरे वर्ष बिना नहाए /मुंह धोए, कॉपी – पेंसिल न लाने वाले बच्चों को साक्षर करने वाले चोर हैं ?*

    *शासन द्वारा भेजी गई विभिन्न दवाओं को खुद खाकर बांटने वाले हम चोर हैं ?*

    *200 ₹ में एक जोड़ी ड्रेस, 200 में ही स्वेटर बांट देने वाले हम चोर ही तो हैं,*

    *लोकतंत्र में निष्पक्ष रूप से चुनाव करवाकर आपको जितवाकर मुख्यमंत्री , प्रधानमंत्री बनवाने वाले हम चोर हैं साहब*,

    *5000₹ में रंगाई पुताई, 5000₹ में पूरे वर्ष स्कूल का खर्चा चलाने वाले चोर नहीं डकैत हैं, हम ?*

    *पूरे वर्ष केवल 14 आकस्मिक अवकाशों से घर से 600 किमी तक की दूरी होने में भी उफ़ किए बगैर परिवार का पालन पोषण करने वाला चोर हूं, मैं ?*

    * देर से पहुंचने का शौक रखता अगर तो नित रोज दुर्घटनाओं का शिकार होकर मरने वाला चोर हूं, मैं ?*

    *प्रति वर्ष गांव में घूमकर नामांकन बढ़ाने वाला, रोज घर – घर जाकर आवाज लगाने वाला चोर हूं, में ?*

    *बच्चों के हित की खातिर प्रधानों , दलालों, नेताओं से भिड़ जाने वाला चोर ही हूं, में ?*

    *सफाई कर्मी के न आने के बावजूद रोजाना स्कूल साफ सुथरा रखने वाला चोर हूं, मैं ?*

    *विद्यालय समय के बाद भी बैंक, बीआरसी, बाजार, राशन की दुकान आदि पर जाकर स्कूल सम्बन्धी आवश्यकता पूरी करने वाला चोर हूं, में ?*

    *शासन द्वारा समय पर रसोइयों को मानदेय न देने के बावजूद खुद पैसे देकर उनका खर्च चलवाने वाला चोर हूं, मैं ?*

    *बीमार/चोटिल होकर भी मेडिकल के लिए पैसे देने वाला चोर हूं, में ?*

    *मातृत्व के दर्द में भी अवकाश के लिए पैसे देने और बच्चे की बीमारी में भी *ईमानदारों के पेट भरने वाला एक चोर ही तो हूं, मैं ?*

    *एक शिक्षक नहीं, बस एक चोर हूं मैं ?*

    *जनाब आप हमारे पीछे सीबीआई लगवा दीजिए, लेकिन हमको हमारा हक EL दे दीजिए*,

    *और अगर हमारी चोरी साबित कर सकते हो तो हमको चोरी के जुर्म में सरे आम फांसी दे दीजिए,*

    *वरना हमको चोर मत कहिये*कथित लोकप्रिय ईमानदार सरकार का एक मुलाजिम- आम शिक्षक✊✊✊✊*

  15. Shamful n discustinng…how can a channel blame all teachers without knowing all facts….shame on these reporters….i pray ur son will teach by a thief.

  16. A Satta Paksh ke Dalal Hamen Chor batate Hain Apne Karam Ko Nahin Dekh Rahe hi hi Khud Paisa Lekar news chalane wale shikshakon per Aisa aarop Laga rahe hain

  17. Saber bade chor Aaj ke mediawale aur paperwale hai jo paise ke liye galatNews banate hai aur jidhar Paisa milta hai uski taraf ho jate hai bikau media

Leave a Reply